महाराजा अग्रसेन जी का जीवन परिचय (Agrasen Maharaj)

दुर्भाग्य से... अग्रपुरुष अग्रसेन जी का जीवन चरित्र, धर्म नीति, सिद्धांतों की पावन कथा सदियों से विलुप्त रही। इसलिए यह छोटी सी कोशिश है, उनका जीवन परिचय कराने की।

महाराजा अग्रसेन जी का जीवन परिचय (Agrasen Maharaj)

इस साल 1 अक्टूबर, 2016 को अग्रसेन जयंती है। सभी अग्रवाल भाइयों और बहनों को अग्रसेन जयंती की असीम शुभकामनाएं। दुर्भाग्य से... अग्रपुरुष अग्रसेन जी का जीवन चरित्र, धर्म नीति, सिद्धांतों की पावन कथा सदियों से विलुप्त रही। इसलिए यह छोटी सी कोशिश है, उनका जीवन परिचय कराने की। महाराजा अग्रसेन लगभग पांच हजार दो सौ वर्ष बाद भी पूजनीय है, तो इसलिए नहीं कि वे एक प्रतापी राजा थे अपितु इसलिए कि क्षमता, ममता और समता की त्रिविध मूर्ति थे महाराजा अग्रसेन। उनके राज में कोई दु:खी या लाचार नहीं था। वे एक धार्मिक, शांति दूत, प्रजावत्सल, हिंसा विरोधी, बली प्रथा को बंद करवाने वाले सभी जीव मात्र से प्रेम रखने वाले दयालु राजा थे। उनके राज में कोई दुखी या लाचार नहीं था। बचपन से ही वे अपनी प्रजा में बहुत लोकप्रिय थे। अग्रसेन वल्लभगढ और आगरा के राजा वल्लभसेन के ज्येष्ठ पुत्र और शुरसेन के बड़े भाई थे।
जन्म 
महाराजा अग्रसेन जी का जन्म सुर्यवंशी भगवान श्रीराम जी के पुत्र कुश की चौतीस वी पीढ़ी में द्वापर के अंतिम काल (याने महाभारत काल) एवं कलयुग के प्रारंभ में अश्विन शुक्ल एकम को हुआ। कालगणना के अनुसार विक्रम संवत आरंभ होने से 3130 वर्ष पूर्व अर्थात ( 3130+ संवत 2073) याने आज से 5203 वर्ष पूर्व हुआ। वृहत्सेन जी अग्रसेन के दादा जी थे। वे प्रतापनगर के महाराजा वल्लभसेन एवं माता भगवती देवी के ज्येष्ठ पुत्र थे। प्रतापनगर, वर्तमान में राजस्थान एवं हरियाणा राज्य के बीच सरस्वती नदी के किनारे स्थित था। बालक अग्रसेन को शिक्षा ग्रहण करने के लिए मुनि तांडेय के आश्रम भेजा जाता है। जहां से अग्रसेन एक अच्छे शासक बनने के गुण लेकर निकलते है। 15 वर्ष की आयु में, अग्रसेन जी ने महाभारत के युद्ध में पांडवो के पक्ष में युद्ध लड़ा था। उनके पिता महाराज वल्लभसेन युद्ध के दसवे दिन भीष्म पितामह के बाणों से वीरगती को प्राप्त हुए। तब शोकाकुल अग्रसेन को भगवान श्रीकृष्ण ने शोक से उबरने का दिव्य ज्ञान देकर पिता का राजकाज संभालने का निर्देश दिया।
करने पड़े थे दो विवाह
महाराजा अग्रसेन जी का पहला विवाह नागराज कुमुद की कन्या माधवी जी से हुआ था। इस विवाह में स्वयंवर का आयोजन किया गया था, जिसमें राजा इंद्र ने भी भाग लिया था। माधवी जी के अग्रसेन जी को वर के रुप में चुनने से इंद्र को अपना अपमान महसूस हुआ और उन्होंने प्रतापनगर में अकाल की स्थिति निर्मित कर दी। तब प्रतापनगर को इस संकट से बचाने के लिए उन्होंने माता लक्ष्मी जी की आराधना की। माता लक्ष्मी जी ने प्रसन्न होकर अग्रसेन जी को सलाह दी कि यदि तुम कोलापूर के राजा नागराज महीरथ की पुत्री का वरण कर लेते हो तो उनकी शक्तियां तुम्हें प्राप्त हो जाएंगी। तब इंद्र को तुम्हारे सामने आने के लिए अनेक बार सोचना पडेगा। इस तरह उन्होंने राजकुमारी सुंदरावती से दूसरा विवाह कर प्रतापनगर को संकट से बचाया। दो-दो नाग वंशो से संबंध स्थापित करने के बाद महाराज अग्रसेन के राज्य में अपार सूख-समृध्दि व्याप्त हुई। इंद्र भी अग्रसेन जी से मैत्री करने बाध्य हुए। दो दो नागराजों से संबंध होने के कारण ही अग्रवाल समाज नागों को अपने मामा मानते है।
अग्रोहा धाम 
महाराजा अग्रसेन ने अपने नए राज्य की स्थापना के लिए रानी माधवी के साथ पूरे राज्य का भ्रमण किया। इसी दौरान उन्हें एक जगह एक शेरनी शावक को जन्म देते दिखी। शावक ने महाराजा अग्रसेन के हाथी को अपनी माँ के लिए संकट समझकर तत्काल हाथी पर छलांग लगा दी। इसे दैवीय संदेश समझकर ॠषि मुनियों और ज्योतिषियों की सलाह पर यहां पर नए राज्य की स्थापना कर, नये राज्य का नाम अग्रेयगण या अग्रोदय रखा गया और जिस जगह शावक का जन्म हुआ था उस जगह अग्रोदय की राजधानी अग्रोहा की स्थापना की गई। यह जगह आज के हरियाणा के हिसार के पास है। आज भी यह स्थान अग्रवाल समाज के लिए पांचवे धाम के रूप में पूजा जाता है, वर्तमान में अग्रोहा विकास ट्रस्ट ने बहुत सुंदर मन्दिर, धर्मशालाएं आदि बनाकर यहां आने वाले अग्रवाल समाज के लोगो के लिए सुविधायें जुटा दी है।
अठारह गोत्र- 
अग्रसेन जी ने अपने राज्य को 18 गणों में विभाजित कर विशाल राज्य की स्थापना की। महर्षी गर्ग ने महाराजा अग्रसेन को 18 गणाधिपतियों के साथ 18 यज्ञ करने का संकल्प करवाया। प्रथम यज्ञ के पुरोहित स्वयं गर्ग ॠषि बने। उन्होंने सबसे बड़े राजकुमार विभु को दीक्षित कर उन्हें गर्ग गोत्र से मंत्रित किया। यज्ञों में बैठे इन 18 गणाधिपतियों के नाम पर ही अग्रवंश के साढ़े सत्रह गोत्रो (अग्रवाल समाज) की स्थापना हुई। 

यज्ञ क्रमांक      ऋषि            गोत्र
 1)                  गर्ग              गर्ग 
 2)                 गोभिल        गोयल 
 3)                 गौतम          गोयन 
 4)                 वत्स            बंसल 
 5)        कौशिक    कंसल
 6)                 शांडिल्य       सिंघल 
 7)                 मुद्रगल        मंगल
 8)                 जैमिनी         जिंदल 
 9)                 तांड्य            तिंगल 
10)               और्वा              ऐरण 
11)               धौम्य             धारण 
12)           भरद्वाज            भंदल 
13)             वशिष्ठ             बिंदल 
14)     मैत्रेय/विश्वामित्र        मित्तल 
15)          कश्यप                 कुच्छल 
16)            तैतिरेय              तायल
17)            मुद्गल              मधुकुल
इस तरह 17 यज्ञ पूर्ण हो चुके थे। जिस समय 18 वें यज्ञ में एक जीवित घोड़े की बलि दी जा रही थी, घोड़े को तड़पता देख कर अग्रसेन जी को घृणा उत्पन्न हो गई। उन्होंने यज्ञ को बीच में ही रोक दिया और कहा कि भविष्य में मेरे राज्य का कोई भी व्यक्ति यज्ञ में पशुबलि नहीं देगा, न पशु को मारेगा, न माँस खाएगा और राज्य का हर व्यक्ति प्राणीमात्र की रक्षा करेगा। लेकिन यज्ञ में यज्ञाचार्यो द्वारा पशुबलि को अनिवार्य बताया गया, ना होने पर गोत्र अधूरा रह जाएगा, ऐसा कहा गया। परन्तु महाराजा अग्रसेन के आदेश पर अठारवें यज्ञ में
काका हाथरसी जी ने अग्रवाल गोत्र महिमा
वैश्य जाती में प्रतिष्ठित अग्रवाल का वर्ग, 
गोत्र अठारह में प्रथम नोट कीजिए गर्ग, 
नोट कीजिए गर्ग कि कुच्छल, तायल, तिंगल, 
मंगल, मधुकूल, ऐरण, गोयन, बिंदल, जिंदल, 
कहीं कहीं है नागल, धारण, भंदल, कंसल, 
अधिक मिलेंगे मित्तल, गोयल, सिंहल, बंसल, 
यह सब थे अग्रसेन के पुत्र दूलारे, 
हम सब उनके वंशज है, वे पूज्य हमारे। 
''एक ईट और एक रुपया'' का समाजवादी सिद्धांत 
एक बार अग्रोहा में अकाल पड़ने पर चारों ओर त्राहि-त्राहि मच गई। ऐसे में समस्या का समाधान ढुंढ़ने के लिए अग्रसेन जी वेश बदलकर नगर भ्रमण कर रहे थे। उन्होंने देखा कि एक परिवार में सिर्फ चार सदस्यों का ही खाना बना था। लेकिन खाने के समय एक अतिरिक्त मेहमान के आने पर भोजन की समस्या हो गई। तब परिवार के सदस्यों ने चारों थालियों में से थोड़ा-थोड़ा भोजन निकालकर पांचवी थाली परोस दी। मेहमान की भोजन की समस्या का समाधान हो गया। इस घटना से प्रेरित होकर उन्होंने ‘एक ईट और एक रुपया’ के सिद्धांत की घोषणा की। जिसके अनुसार नगर में आने वाले हर नए परिवार को नगर में रहनेवाले हर परिवार की ओर से एक ईट और एक रुपया दिया जाएं। ईटों से वो अपने घर का निर्माण करें एवं रुपयों से व्यापार करें। इस तरह महाराजा अग्रसेन जी को समाजवाद के प्रणेता के रुप में पहचान मिली। महाराजा अग्रसेन जी की इसी विचारधारा का प्रभाव है कि आज भी अग्रवाल समाज शाकाहारी, अहिंसक एवं धर्मपरायण के रुप में प्रतिष्ठित है। 
निकट संबंधोंं में विवाह पर रोक- 
उस समय निकट संबंधों में ही बच्चों की शादियां करने का चलन था। विज्ञान के अनुसार यह अनुचित था। तब अग्रसेन जी ने सर्वसंमति से यह निर्णय लिया कि अपने पुत्र और पुत्री का विवाह सगोत्र में नहीं करेंंगे। इसके लिए उन्होंने अपने पुत्रों को 18 गोत्रों का मुखिया बनाया और सगोत्र विवाह पर रोक लगाई। आज भी अग्रवालों में यह प्रथा प्रचलित है। 
अग्रसेन जी का अंतिम समय- 
महाराजा अग्रसेन ने 108 वर्षों तक राज किया। एक निश्चिंत आयु प्राप्त करने के बाद कुलदेवी महालक्ष्मी से परामर्श कर वे आग्रेय गणराज्य का शासन अपने ज्येष्ठ पुत्र विधु के हाथों में सौंप कर तपस्या करने चले गए। 
भारत सरकार द्वारा प्राप्त सम्मान 
• महाराजा अग्रसेन के नाम पर 24 सितंबर 1976 में भारत सरकार ने 25 पैसे का डाक टिकट जारी किया था। 
• सन 1995 में भारत सरकार ने दक्षिण कोरिया से 350 करोड़ रुपए में एक विशेष तेल वाहक जहाज खरिदा, जिसका नाम “महाराजा अग्रसेन’’ रखा गया। 
• राष्ट्रिय राजमार्ग-10 का अधिकारिक नाम महाराजा अग्रसेन पर है। 
कही पढ़ी हुई कविता की चंद पंक्तियां
अग्रसेन जी की राह पर हम सबको अब चलना है, 
नहीं झुकेगा सिर अब, सिर उठाकर जीना है। 
उंच-नीच का भेद मिटाए, 
हम सब समान है, 
निर्धन हो या धनी, 
धरती पर सिर्फ इंसान है। 
प्यार अमन के दीप हमें, पग-पग पर जलाना है, 
जागो, उठो साथ चलो, जग को यहीं बताना है। 
अग्रसेन जयंती-
महाराजा अग्रसेन जी के जन्मदिन अश्विन शुक्ल एकम अर्थात नवरात्रि के प्रथम दिन जयंती के रुप में धुमधाम से मनाया जाता है। कई जगह तो पूरे सप्ताह भर विविध स्पर्धाओं का आयोजन किया जाता है। जयंती के दिन अग्रसेन जी की विधि-विधान से पुजा-अर्चना कर शोभायात्रा निकाली जाती है। आइए, अग्रसेन जयंती के शुभ अवसर पर हम यह प्रतिज्ञा लें कि हम अग्र है, अग्र ही रहेंगे, अग्रवालों की शान कभी कम न होने देंगे! अग्रसेन जयंती को आप सभी को पुन: बहुत-बहुत बधाई!!

Keywords: Maharaja Agrasen, Socialism, Agrasen jayanti, Agrasen Maharaj

COMMENTS

BLOGGER: 33
  1. Maharaja Agrasen ji ke bare me itni important jankari dene ke liye dhanyavad! "Ek eet aur ek Rupya" ka samajvadi siddhant bahut accha laga.....thanks for share....

    जवाब देंहटाएं
  2. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि- आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा कल शुक्रवार (01-10-2016) के चर्चा मंच "आदिशक्ति" (चर्चा अंक-2482) पर भी होगी!
    शारदेय नवरात्रों की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ-
    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    जवाब देंहटाएं
  3. धन्यवाद, आदरणीय शास्त्री जी।

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत ही अच्छा लगा पढ़ के.

    जवाब देंहटाएं
  5. आपको भी अग्रसेन जयंती पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं आदरणीया ज्योति जी । अग्रसेन जी का जीवन सचमुच एक आदर्श है जिसे सत्ता के सिंहासन पर जा पहुँचने वालों को ही नहीं, अन्य सामान्य लोगों को भी अपनाना चाहिए । अत्यंत ज्ञानवर्धक आलेख है यह आपका । हार्दिक आभार आपका ।

    जवाब देंहटाएं
  6. Thanks for sharing the information, Jyotiji. I learnt something new from this post... :-)

    जवाब देंहटाएं
  7. Agrasen ke vishay mein vistrit jaankari dene ke liye dhanyavad Jyotiji. Mujhe yeh maloom nahi tha ki Maharaja Agrasen agrwalon ke poorvaj hain. Kya yeh wahi Agrasen hain jinke naam ki baoli dilli mein hai?

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. हां..सोमाली,ये वही अग्रसेन महाराजा है जिनके नाम की बावली दिल्ली में है।

      हटाएं
  8. कृपया कर माता माधवी जी की जन्म और विवाह की तारीख बताये।

    धन्यवाद्

    जवाब देंहटाएं
  9. अनिल जी, क्षमा करे...वो तो मुझे नहीं पता।

    जवाब देंहटाएं
  10. Aapne is Article me aapne Maharaja Agrasen ji ke baare me bahut Achchi jankari share ki h... Isse mujhe Agrasen ji maharaj ke baare me kaafi kuch naya janne ko mila
    thanks for this Article

    जवाब देंहटाएं
  11. Toh Kya hum aggarwal rajput hai...kyu agarsen Maharaja ko ram ka wansaaj bataya gaya hai... suriya vansi.... agar nhi toh Maharaja agarsen Kya the baniye ya rajput..or unka gotra Kya tha...aggarwal mat batana plzz

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. Actually maharaja agrasen kshatriy hi the lekin havan ke baad di jani wali pashu bali ka unhone virodh kiya tha isiliye unhone kshatriya varna ko tyag kr vaishya varna apna liya or hmm agrawal baniye kahlane lge...

      हटाएं
  12. राघव जी, महाराजा अग्रसेन सूर्यवंशी रामचंद्र जी के वंशज थे। उन्होंने ही अठारह गोत्र की स्थापना की थी। महाराजा अग्रसेन जी के पहले गोत्र का अस्तित्व ही नही था। अतः उन्हें हम किसी एक गोत्र का नही कह सकते।

    जवाब देंहटाएं
  13. महाराजा अग्रसेन जयंती की बधाई हो सबको.बहुत खूब ज्योति जी.

    जवाब देंहटाएं
  14. rakesh didwania3/11/17, 1:25 pm

    bahut badhiya. update karte rahiye

    जवाब देंहटाएं
  15. जय अग्रसेन
    महाभारत युद्व में भीष्म पितामह के बाणों से महारजा अग्रसेन जी को वीरगति प्राप्त हुई इसका उल्लेख तो आज तक नहीं कहा गया, बल्कि यह बताया गया की अपने ज्येष्ठ पुत्र विभु (गर्ग) का राज्याभिषेक कर वे वनों की ओर प्रस्थान कर गये।

    Regards
    Sarvesh Gupta (Garg, Agrawal)
    M- 9584995225

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. शायद आपने बराबर पढ़ा नहीं हैं! मैने यह लिखा हैं कि ''महाभारत के युद्ध में महाराज वल्लभसेन, पांडवों के पक्ष में लड़ते हुए युद्ध के दसवे दिन भीष्म पितामह के बाणों से वीरगती को प्राप्त हुए।'' न की महाराज अग्रसेन!

      हटाएं
  16. महाराज अग्रसेन जी की पत्नी माधवी जी का जन्म स्थान बताने की कृपा करें

    जवाब देंहटाएं
  17. Aaj ki agrsen pidhi pr he kya aisi. Wo to jat jat me bhedbav Kati he.

    जवाब देंहटाएं
  18. कोई ऐसा ग्रुप ह क्या, जिसमे महाराजा अग्रसेनजी की जानकारी एवम उनके संभंध में हमारे समाज मे जानकारी देने के कार्य मे लगा हो। आज कल के की बच्चो को शायद महाराजा अग्रसेनजी की जानकारी तक नही ह।

    जवाब देंहटाएं
  19. Ek rupya Ek eat khani k writer kon h ? Pls Aap bataye

    जवाब देंहटाएं
  20. एक रुपया एक ईंट के लेखक है ओमप्रकाश गर्ग मधुप" जी

    जवाब देंहटाएं
  21. महाराजा बल्लभ सेन जीके पिताजी का क्या नाम था कुछ पता है तो प्लीज मुझको रिप्लाई करके बताएं

    जवाब देंहटाएं
  22. मेरे कहने का मतलब यह है की महाराजा अग्रसेन जी के दादाजी का कुछ नाम पता है तो प्लीज बताने की कृपाल ता करें

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. अग्रसेन जी के दादा जी का नाम था वृहत्सेन जी।

      हटाएं
  23. Maharaja Shri Agrasen ji ke Bhanje ka naam Bataye Jo vidwan the

    जवाब देंहटाएं
  24. महाराजा अग्रसेन की पत्नी माधवी की माताजी का नाम क्या था

    जवाब देंहटाएं
  25. Maharaja agrasen ji ka janm ka samay kya tha btaiye plz

    जवाब देंहटाएं
  26. अभिजीत मुहूर्त दोपहर

    जवाब देंहटाएं

नाम

'रेप प्रूफ पैंटी',1,#मीटू अभियान,1,#साड़ीट्विटर,1,14 नवम्बर,1,15 अगस्त,3,25 दिसम्बर,1,26 जनवरी,1,8 मार्च,2,अंंधविश्वास,1,अंकुरित अनाज,1,अंगदान,1,अंगुठी,1,अंगूर,1,अंगूर की लौंजी,1,अंगूर की सब्जी,1,अंग्रेजी,2,अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस,4,अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस,1,अंधविश्वास,20,अंधश्रद्धा,16,अंधश्रध्दा,3,अंश,1,अग्निपरीक्षा,1,अग्रवाल,1,अग्रसेन जयंती,1,अग्रसेन जयंती की शुभकामनाएं,1,अचार,11,अच्छी पत्नी,1,अच्छी पत्नी चाहिए तो...,1,अच्छे काम,1,अजब-गजब,2,अजय नागर,1,अतित,1,अदरक,1,अदरक का चूर्ण,1,अदरक-लहसुन पेस्ट,1,अनमोल वचन,10,अनरसा,1,अनुदान,1,अनुप जलोटा,1,अन्न,1,अन्य,28,अन्याय,1,अपमान,1,अपेक्षा,1,अप्पे,4,अमरुद,1,अमरूद की खट्टी-मीठी चटनी,1,अमीरी,1,अमेजन,1,अरबी,1,अरुणा शानबाग,1,अरुनाचलम मुरुगनांथम,1,अवार्ड,2,अशोक चक्रधारी,1,असली हीरो,18,अस्पताल,1,अस्पतालों में बच्चों की मौत,1,आंवला,8,आंवला कैंडी,1,आंवला चटनी,1,आंवला मुरब्बा,1,आंवला लौंजी,1,आंवले का अचार,1,आंवले का शरबत,1,आंवले की गटागट,1,आइसक्रीम,1,आईसीयू ग्रेंडपा,1,आग,1,आज के जमाने की अच्छाइयां,1,आजादी,2,आज़ादी,1,आतंकवादी,2,आत्महत्या,3,आत्मा,1,आदित्य तिवारी,1,आम,10,आम का अचार,1,आम का पना,2,आम का मुरब्बा,2,आम की बर्फी,1,आम पापड़,1,आरओ,1,आरक्षण,3,आलू,5,आलू की पापडी,1,आलू की मठरी,1,आलू को स्टोर करना,1,आलू चाट पराठा,1,आलू पोहा अप्पे,1,आलू प्याज के स्टफ्ड पकोड़े,1,इंसान,2,इंस्टंट डोसा,2,इंस्टंट मावा,1,इंस्टंट स्नैक्स,1,इंस्टट ढोकला,1,इंस्टेंट कुल्फी,1,इंस्टेंट मिठाई,1,इडली,3,इन्डियन टाइम,1,इमली,1,इरोम शर्मिला,1,ईद,1,ईश्वर,6,ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ रचना,1,ईसा मसीह,1,उटी,1,उपमा,3,उपवास,1,उपवास का हांडवो,1,उपवास की इडली,1,उपहार,2,उमा शर्मा,1,उम्र,1,उम्र का लिहाज,1,ऋषि पंचमी,1,एक सवाल,1,ऐनी दिव्या,1,ऐश ट्रे,1,ऐस्टरॉइड,1,ऑनलाइन,1,ओरैया,1,और इज्जत बच गई,1,औरंगाबाद हादसा,1,कंघा,1,कंसन्ट्रेट आम पना,1,कच्चे आम,1,कच्चे आम का चटपटा पापड़,1,कछुआ,1,कटलेट्स,1,कद्दु,1,कद्दु के गुलगुले,1,कद्दू,1,कद्दू का बेसन,1,कन्यादान,3,कबीर सिंह मूवी,1,करवा चौथ,2,करवा चौथ शायरी,1,करवा-चौथ,5,कल्याणी श्रीवास्तव,1,कहानी,31,कांजी,1,काजू,1,काजू करी,1,कानून,1,कामवाली बाई,4,कालीन,1,किचन टिप्स,16,किटी पार्टी,1,किन्नर,1,कियारा आडवानी,1,किराए पर बीवियां,1,कुंडली मिलान,1,कुरकुरे,1,कुल्फी,1,कुल्फी प्रीमिक्स,1,कूकर,1,केईएम् अस्पताल,1,कैंडी,1,कैरी मिनाती,1,कॉर्न,4,कॉर्न इडली,1,कोंडागांव,1,कोरोना,2,कोरोना टिप्स,1,कोरोना वरीयर्स,2,कोरोना वायरस,7,कोवीड-19,2,कौए,1,क्रिसमस डे,2,क्रिसमस डे की शुभकामनाएं,1,क्रिस्पी डोसा बनाने के सिक्रेट्स,1,क्षमा,2,खजूर,1,खत,6,खबर,3,खरबूजा,2,खरबूजे का शरबत,1,खरेदी,1,खांडवी,1,खाद्य पदार्थ,1,खाना,1,खारक,1,खारी गरम,1,खुले में शौच,1,खुशी,2,खेल,1,खोया,1,गणतंत्र दिवस,1,गणेश चतुर्थी,3,गणेश चतुर्थी पर शायरी,1,गणेश चतुर्थी प्रसाद रेसिपी,1,गणेश जी,1,गरम मसाला,1,गर्दन दर्द,1,गर्भावस्था,1,गर्भाशय,1,गलत व्यवहार,1,गलती,2,गांधी जयंती,1,गाजर,6,गाजर अप्पे,1,गाजर के पैनकेक,1,गाजर के लड्डू,1,गाजर मूली का अचार,1,गाजर-मूली के दही बडे,1,गाय,1,गार्डनिंग,1,गुजरात,1,गुजराती डिश,1,गुजिया,1,गुड टच और बैड टच,2,गुरु पूर्णिमा,1,गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएं,1,गुलगुले,1,गुस्सा,1,गृहस्वामिनी,1,गेहूं का आटा,1,गैस बर्नर,2,गोभी और चना दाल के बडे,1,गोरखपुर,1,गोरा रंग,1,गोल्फ,1,गौरी पराशर,1,ग्रीन टी,1,घंटी,1,घिया,1,घी,1,घी की नदी,1,चंद्रमा की गुरुत्वाकर्षण शक्ति,1,चकली,1,चटनी,7,चाँद पर जमीन,1,चाय,1,चाय मसाला,1,चावल,3,चावल के पापड़,1,चाशनी,1,चाशनी वाली मावा गुजिया,1,चींटी,1,चींटीया,1,चीज,1,चीनी देवता,1,चीला,3,चुर्ण,1,चूर्ण,6,छाछ,1,छींक,1,छोटी बाते,1,छोटे लेकिन काम के टिप्स,5,जज्बा,2,जनसंख्या,1,जन्मदिन,3,जन्मदिन की शुभकामनाएं,2,जन्माष्टमी,3,जन्माष्टमी रेसिपी,1,जमाना,1,जलेबी,1,जाट आंदोलन,1,जात-पात,1,जाति,2,जादुई दिया,1,जाम,1,जिंदगी,1,जींस,1,जीएसटी,1,जीरो ऑइल रेसिपी,5,जोक्स,5,जोमैटो,1,जोयिता मंडल,1,जोरु का गुलाम,1,ज्वार की रोटी,1,ज्वेलरी,1,झारखंड,1,झाले-वारणे,2,झूठ,1,टमाटर,1,टमाटर सूप,1,टिप्स कॉर्नर,45,टी.व्ही. और सिनेमा,1,ठंडा पानी,1,ठंडे पेय,6,ठेचा,1,डर,2,डैंड्रफ,1,डॉक्टर,2,डॉटर्स डे,2,डोनाल्ड ट्रम्प,1,डोसा,2,ड्राई फ्रूट,2,ड्राई फ्रूट मोदक,1,ड्राई फ्रूट्स लड्डू,1,ड्रेगन,1,ढाबा स्टाइल सब्जी,2,ढाबे वाली दम अरबी,1,ढोकले,1,तरबूज,2,तरबूज के छिलके का हलवा,1,तलाक,1,ताजे नारियल की बर्फी,1,तिल,3,तिल की कुरकुरी चिक्की,1,तिल के लड्डू,1,तिल गुड़ की रेवड़ी,1,तुलसी,1,तेल,1,तेलंगाना,1,तोहफ़ा,1,त्यौहार,1,दक्षिणा,1,दर्द का रिश्ता,1,दवा,1,दशहरा,1,दशहरा की शुभकामनाएं,1,दशहरा शायरी फोटो,1,दही,6,दही वाली लौकी की सब्जी,1,दही सैंडविच,1,दहेज,3,दाग-धब्बे,1,दान,1,दासी,1,दिपावली,1,दिपावली बधाई संदेश,3,दिवाली,2,दिवाली मिठाई,1,दिशा,1,दीपावली शुभकामना संदेश,1,दीवाली रेसिपी,1,दुध पावडर,1,दुबई,1,दुबई यात्रा,1,दुर्गा माता,1,दुल्हा,1,दुश्मन,1,दूध,4,देशभक्ति,3,देशभक्ति शायरी,2,देहदान,1,दोस्त,2,दोस्ती,1,धनिया,1,धर्म,3,धर्मग्रंध,1,धार्मिक,41,नई जनरेशन,2,नक्सली,1,नजर,1,नजर कैसे उतारु,1,नदी में पैसे,1,नन्ही परी,1,नमक पारे,1,नमकीन,1,नवरात्र,2,नवरात्र स्पेशल,2,नवरात्रि,3,नवरात्रि की शुभकामनाएं,1,नवरात्रि शायरी फोटो,1,नवरात्री रेसिपी,9,नववर्ष,2,नववर्ष की शुभकामनाएं,2,नाइंसाफी,1,नाग पंचमी,1,नागरिकता संशोधन कानून,1,नानी,1,नारियल,2,नारियल छिलने का तरीका,1,नारियल बर्फ़ी,1,नारी,54,नारी अत्याचार,13,नारी शिक्षा,1,नाश्ता,1,निंबु का अचार,1,निचली जाती,1,निर्णयक्षमता,1,निर्भया,2,निवाला,1,नींबू,2,नींबू का शरबत,1,नीडल थ्रेडर,1,नेत्रदान,1,नेपाल त्रासदी,1,नेल आर्ट,1,न्याकिम गैटवेच,1,न्यूजीलैंड,1,पकोडे,3,पकोड़े,1,पक्षी,1,पढ़ा-लिख़ा कौन?,1,पढ़ाई,1,पति,1,पति का अहं,1,पति-पत्नी,1,पत्ता गोभी,2,पत्ता गोभी की मुठिया,1,पत्नी,1,पत्र,1,पनीर,2,पनीर बटर मसाला,1,पनीर मोदक,1,पपीता,1,परंपरा,3,परफ्यूम,1,परवरिश,6,पराठे,3,परीक्षा,2,परेशानी,1,पर्स,1,पल्ली उत्सव,1,पवित्र,1,पवित्रता,2,पसंदीदा शिक्षक को पत्र,1,पान गुलकंद मोदक,1,पानी,1,पानी कैसे पीना चाहिए,1,पापड़,3,पालक,1,पालक के नमक पारे,1,पालक बडी,1,पाश्चात्य संस्कृति,1,पिता,2,पीरियड,1,पीरियड पॉलिसी,1,पीरियड्स,1,पुण्य,2,पुरानी मान्यताएं,1,पुलवामा हमला,1,पूडी,1,पूरी,1,पेड-पौधे,1,पेड़े,1,पेढे,1,पैड्मैन,1,पैनकेक,2,पैरेंटीग,1,पोर्न मूवी,1,पोषण,1,पोहा,2,पोहे के कुरकुरे,1,प्याज,5,प्याज की चटनी,1,प्याज के क्रिस्पी पकोड़े,1,प्यार,1,प्यासा कौआ,1,प्रत्यूषा,1,प्रद्युम्न,1,प्रवासी मजदूर,2,प्रसन्न,1,प्राणियों से सीख,1,प्रियंका रेड्डी,1,प्री वेडिंग फोटोशूट,1,प्रीमिक्स,3,प्लास्टिक बाल्टी कैसे साफ़ करे,1,फर्रुखाबाद,1,फल,2,फल और सब्जी खरीदने से पहले,1,फलाहार,1,फलाहारी दही वडे,1,फल्लिदाने,1,फादर्स डे,3,फूल,1,फूल गोभी के परांठे,1,फ़ेंगशुई,1,फेसबुक,2,फैशन,1,फ्रिज,1,फ्रिज में सब्जी,1,फ्रेंडशीप डे,1,फ्रेंडशीप डे शायरी,1,बंटवारे की अनोखी शर्त,1,बकरीद,1,बची हुई सामग्री का उपयोग,1,बच्चे,8,बच्चे की ज़िद,1,बच्चें,1,बछबारस,1,बटर,1,बड़ा कौन?,1,बढ़ती उम्र,2,बदला,1,बदलाव,1,बधाई संदेश,4,बरबादी,1,बर्फी,2,बलात्कार,10,बहन की रक्षा,1,बहू,4,बहू जैसा प्यार,1,बाजरा,1,बाल दिवस,1,बाल शोषण,2,बाहर का खाना,1,बिना गैस रेसिपी,3,बिना प्याज लहसुन की रेसिपी,7,बिमारियों की असली वजह,1,बिल्ली के गले में घंटी,1,बिस्किट,1,बिस्कुट,1,बुढ़ापा,1,बुर्ज अल-अरब,1,बुर्ज खलीफा,1,बुलंदशहर गैंगरेप,1,बेटा,1,बेटा पढाओ,1,बेटी,7,बेटी बचाओ अभियान,2,बेटे का फ़र्ज,1,बेमेल आहार,1,बेसन,2,बेसन के लड्डू,1,बैंगन,1,बोझ,1,बोर होना,1,ब्रेकअप,1,ब्रेकिंग न्यूज,1,ब्रेड,5,ब्रेड की रसमलाई,2,ब्रेड पकोडा,1,ब्रेड पिस्ता पेढे,1,ब्रेड मलाई रोल,1,ब्लॉगअद्दा एक्टिविटी,1,ब्लॉगर ऑफ द इयर 2019,1,ब्लॉगर्स रिकोग्निशन अवार्ड,1,ब्लॉगिंग,6,ब्ल्यू व्हेल गेम,1,भक्ति,1,भगर,5,भगर की इडली,1,भगर के उत्तपम,1,भगर के कटलेट,1,भगवान,3,भजिए,2,भरवां मिर्च,1,भरवां शिमला मिर्च,1,भाई दूज शायरी,1,भाकरवड़ी,1,भागीरथी अम्मा,1,भाभी,1,भारत,1,भारतीय नारी,1,भारतीय मसाले,1,भिखारी,1,भुट्टे के पकोड़े,1,भूकंप,1,भोजन,1,भ्रुण हत्या,1,मंदसौर गैंग रेप,1,मंदिर,3,मंदिरों में ड्रेस कोड़,1,मंदिरों में दक्षिणा,1,मकई,4,मकई उपमा,1,मकई चीला,1,मकई पकोडे,1,मकर संक्रांति,4,मकर संक्रांति की शुभकामनाएं,1,मकर संक्राति,1,मखाना,1,मखाने के लड्डू,1,मटके पर औंधा लोटा,1,मटर,3,मटर के अप्पे,1,मठरी,3,मठ्ठा,1,मथुरा के पेड़े,1,मदर्स डे,4,मदर्स डे का गिफ्ट,1,मम्मी,1,मलाई,2,मलाई फ्रूट सलाद,1,मल्ला तामो,1,मसाला छाछ,1,मसाला मठरी,1,मस्जिद,1,महात्मा गांधी जी,2,महानता,1,महाराजा अग्रसेन जी,1,महाराष्ट्र में आरक्षण,1,महिला आजादी,1,महिला आरक्षण,1,महिला दिवस,1,महिला सशक्तिकरण,4,महिला सुरक्षा,1,महिलाओं का पहनावा,1,माँ,3,माउथ फ्रेशनर,1,माता यशोदा,1,माता लक्ष्मी,1,मातृभाषा,1,मायका,2,मारवाड़ी,1,मार्केट जैसे साबूदाना पापड़,1,माला,1,मावा,1,मावा कुल्फी,1,मासिक धर्म,3,माहवारी,5,मिठाई,33,मित्र,2,मिलावट,1,मिलावट पहचानने के घरेलू तरीके,1,मिल्क पाउडर,1,मिस इंडिया 2019,1,मीठे चावल,1,मीठे जर्दा चावल,1,मुक्ति,1,मुखवास,1,मुबारकपुर कला,1,मुरब्बा,1,मुरमुरा,1,मुरमुरा लड्डू,1,मुलेठी,1,मुस्लिम,1,मुस्लिम मंच,1,मुहूर्त,1,मूंग की सूखी दाल का हलवा,1,मूंग दाल,1,मूंग दाल डोसा,1,मूंगफली,1,मूंगफली की सूखी चटनी,1,मूली,4,मूली का अचार,1,मूली के पत्तों के कुरकुरे कटलेट्स,1,मेंढक,1,मेंस्ट्रुअल कप,1,मेंहदी,8,मेडिसिन बाबा,1,मेथी,1,मेथी दाना चुर्ण,1,मेथी मटर मलाई,1,मेनु,1,मेरा मंत्र,3,मेरा सपना,1,मेरी बात,15,मैंगो फ्रूटी,1,मैंगो श्रीखंड,1,मैनर्स,1,मोदक,3,याकूब मोहम्मद,1,यू ए ई,1,रंग,1,रंग पंचमी,1,रक्तदान,1,रक्तदान के फायदे,1,रक्षा बंधन,2,रक्षाबंधन,2,रक्षाबंधन शायरी,1,रजस्वला नारी,4,रवा इडली,1,रसे वाली अरबी,1,रसोई,143,रांगोली,3,राखी,4,राखी स्पेशल मिठाई,1,राज की बात,1,राजभाषा,1,राजस्थानी समाज,2,राजस्व,1,राम रहीम,1,रामनवमी,1,रामनवमी की शुभकामनाएं,1,राशी-भविष्य,1,राष्ट्रगान,1,राष्ट्रगीत,1,राष्ट्रभाषा,1,रिती-रिवाज,1,रिफाइंड ऑयल,1,रिफाइंड ऑयल के नुकसान,1,रिफाइंड तेल,1,रीतिरिवाज,1,रुपया-पैसा,1,रेणुका मिश्रा,1,रेन वाटर हार्वेस्टिंग,1,रेवड़ी,1,रेस्टोरेंट स्टाइल सब्जी,1,रोटी,4,रोस्टेड मूंगफली,1,लघुकथा,15,लच्छेदार मठरी,1,लड्डू,6,लहसुन,1,लाइटर,1,लाइफ स्किल्स,1,लाफिंग बुद्धा,1,लाल मिर्च,1,लाल मिर्च का अचार,1,लाल मिर्च की सूखी चटनी,1,लिव इन,1,लिव इन रिलेशनशिप,1,लीव इन रिलेशनशिप,1,लेसुए,1,लैंगिक समानता,1,लॉकडाउन,3,लॉटरी,1,लोकल ट्रेन,1,लोकसभा चुनाव,1,लोग क्या कहेंगे?,1,लौंजी,1,लौकी,3,लौकी का हलवा,1,लौकी की बड़ी,1,लौकी की सब्जी,1,वक्त,1,वटसावित्री व्रत,1,वर,1,वर्जिनिटी टेस्ट,1,वर्तमान,1,वर्षा जल संग्रहण,1,वर्षा जल संचयन,1,वाटर प्यूरीफायर,1,वायरल फोटो,1,वारी के हनुमान,1,विदर्भ स्पेशल रेसिपी,1,विधवा,1,विधवा ने किया कन्यादान,1,विधवा विवाह,1,विरुद्ध आहार,1,विशाखापट्टनम रेप कांड,1,वृंदावन,1,वृद्धावस्था,1,वेजिटेबल डोसा,1,वेजिटेबल पैनकेक,1,वैलेंटाइन गिफ़्ट,1,वैलेंटाइन डे,3,वैलेंटाइन डे शायरी,1,वैश्विक महामारी,1,वोट,1,वोट की किंमत,1,व्यंग,13,व्यायाम,1,व्रत,2,व्रत के दही भल्ले,1,व्रत रेसिपी,20,व्रत स्पेशल,2,शकरकंद,2,शकरकंद की जलेबी,1,शकरकंद को कैसे भुने,1,शकुन-अपशकुन,2,शक्करपारे,1,शनि देव,1,शबनम मौसी,1,शब्द,1,शरबत,6,शराब की दुकान,1,शर्बत,1,शर्म,3,शादी,7,शादी की खरेदी,1,शादी की फ़िजूलखर्ची का बिल,1,शादी के सालगिरह की शुभकामनाएं,1,शादी-ब्याह,3,शायरी,9,शावर,1,शाहिद कपूर,1,शिक्षक दिन,2,शिक्षक दिवस पर शायरी,1,शिक्षा,5,शिमला मिर्च,1,शिवपुरी,1,शिवलिंग,1,शुभ मुहूर्त,1,शुभ-अशुभ,4,शुभकामना संदेश,1,शुभम जगलान,1,श्राद्ध,3,श्राद्ध का खाना,1,श्रीकृष्ण,3,श्रेष्ठता,1,संत निकोलस,1,संसद,1,संस्कार,1,संस्मरण,9,सकारात्मक पहल,2,सच बोलने की प्रेरणा,1,सजा मुझे क्यों,1,सतबीर ढिल्लो,1,सपना,1,सफेद बाल,1,सब्जियों का अचार,1,सब्जियों की कांजी,1,सब्जी,14,समय,1,समाजसेवा,2,समाजिक,1,समाधान,1,समावत चावल,3,सर के बाल,1,सलाद,2,ससुराल,2,सस्ते कपड़े,1,सहशिक्षा,1,सांता क्लॉज,1,सांप,1,सांभर वडी,1,सांवला या काला रंग,1,साउथ इंडियन डिश,3,साक्षात्कार,4,सागर में ज्वार,1,साफ-सफाई,1,साबुदाना,3,साबुदाना के अप्पे,1,साबुदाना पापड़,2,साबुदाने लड्डू,1,साबुन,1,साबूदाना,3,साबूदाना खिचड़ी,1,साबूदाना वड़ा,1,सामाजिक,78,सामाजिक कार्यकर्ता,1,सालगिरह,6,सावन,2,सास,4,साहित्य,107,सिंगल पैरेंट,1,सिंदूर,1,सीएए,1,सीख-सुहानी,1,सीनू कुमारी,1,सुंदरता,1,सुई,1,सुखी,1,सुजी,1,सूजी,1,सूजी के लड्डू,1,सूप,1,सेनेटरी नेपकिन,1,सेब,1,सेलिब्रेटी,1,सेव मेरिट सेव नेशन,1,सेवई उपमा,1,सेहत,1,सैंडविच,1,सोच,1,सोलो यूट्यूबर,1,सोशल मीडिया,1,सौंफ,1,सौंफ का शरबत,1,सौंफ प्रीमिक्स,1,सौतेली माता,1,स्कूल,1,स्टफ्ड आम पापड़,1,स्टफ्ड मैंगो रोल,1,स्टार्टर,1,स्त्री,2,स्नैक्स,48,स्वतंंत्रता दिन,1,स्वतंत्रता दिन,2,स्वर्ग और नर्क,1,स्वाभिमान,1,स्वास्थ,2,स्वास्थ्य,13,हंस,1,हनुमान जी,2,हरी मटर,1,हरी मटर के पैनकेक,1,हरी मटर को कैसे स्टोर करें,1,हरी मिर्च,3,हरी मिर्च का अचार,1,हलवा,3,हांडवो,2,हाउसवाइफ,1,हाथी,1,हिंदी उखाणे,1,हिंदी उखाने,1,हिंदी दिवस,1,हिंदी शायरी,31,हिंदु,1,हेयर कलर,1,हैंड सैनिटाइजर,1,हैंडल,1,हैसियत,1,होटल,1,होममेकर,1,होली की शुभकामनाएं,1,होली रेसिपी,1,
ltr
item
आपकी सहेली ज्योति देहलीवाल: महाराजा अग्रसेन जी का जीवन परिचय (Agrasen Maharaj)
महाराजा अग्रसेन जी का जीवन परिचय (Agrasen Maharaj)
दुर्भाग्य से... अग्रपुरुष अग्रसेन जी का जीवन चरित्र, धर्म नीति, सिद्धांतों की पावन कथा सदियों से विलुप्त रही। इसलिए यह छोटी सी कोशिश है, उनका जीवन परिचय कराने की।
https://1.bp.blogspot.com/-Js1wS9jDF9o/XyJUK_e4mmI/AAAAAAAAQ2M/Vdzi4r8q7R8dAVmzz79_lI72fSRuP4GAACLcBGAsYHQ/w320-h213/Agrasen%2Bji.jpg
https://1.bp.blogspot.com/-Js1wS9jDF9o/XyJUK_e4mmI/AAAAAAAAQ2M/Vdzi4r8q7R8dAVmzz79_lI72fSRuP4GAACLcBGAsYHQ/s72-w320-c-h213/Agrasen%2Bji.jpg
आपकी सहेली ज्योति देहलीवाल
https://www.jyotidehliwal.com/2016/09/Maharaja-Agrasenji-ka-jivan-parichay.html
https://www.jyotidehliwal.com/
https://www.jyotidehliwal.com/
https://www.jyotidehliwal.com/2016/09/Maharaja-Agrasenji-ka-jivan-parichay.html
true
7544976612941800155
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS PREMIUM CONTENT IS LOCKED STEP 1: Share to a social network STEP 2: Click the link on your social network Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy